Tuesday, April 23, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedअल्पसंख्यक सिख समुदाय की मांगों को रेलवे निरंतर कर रहा है नजरअंदाज

अल्पसंख्यक सिख समुदाय की मांगों को रेलवे निरंतर कर रहा है नजरअंदाज

गोंदिया : दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे क्षेत्र एवं विभागीय रेल सलाहकार समिति सदस्य (डीआरयूसीसी मेंबर) इंजीनियर जसपाल सिंह चावला ने बताया कि बीते कई वर्षों से वह भारत सरकार रेल मंत्रालय से अल्पसंख्यक सिख समुदाय श्रद्धालु यात्रियों की धार्मिक यात्रा सुविधा हेतु विभिन्न मांगों को लेकर पत्र व्यवहार करते आ रहे हैं. जिस पर भारत सरकार रेल मंत्रालय नई दिल्ली से उन्हें एक दो बार फोन भी आया है, पर अभी तक रेल प्रशासन द्वारा इन मांगों पर कोई सकारात्मक निर्णय नहीं लिए गए हैं. जिससे संपूर्ण सिख समुदाय में एक निराशा का माहौल है.
इंजीनियर जसपाल सिंह चावला ने बताया कि अल्पसंख्यक सिख समुदाय की धार्मिक यात्राओं से संबंधित मांगे कुछ इस प्रकार से है. जिसमें ट्रेन क्रमांक 12409 गोंडवाना एक्सप्रेस का विस्तार श्री अमृतसर साहिब पंजाब तक करने की मांग लंबे समय से की जा रही है; क्योंकि वर्तमान में गोंदिया से श्री अमृतसर साहिब पंजाब के लिए केवल एक मात्र ट्रेन क्रमांक 18237 छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस ही चलती है. जिसे श्री अमृतसर साहिब पंजाब पहुंचने में बहुत ज्यादा लंबा समय लगता है. जिससे श्रद्धालु यात्रियों को हालात यह है की कोरोना का काल के बाद छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस से ऑनबोर्ड सफाई कर्मी भी हटा दिए गए हैं. जिससे संपूर्ण ट्रेन में हमेशा गंदगी रहती है. दूसरी मांग में सिखों के ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री हजूर साहिब नांदेड़ महाराष्ट्र के लिए चलने वाली साप्ताहिक ट्रेन 12767 संतरागाछी हजूर साहिब नांदेड़ सुपरफास्ट एक्सप्रेस को सप्ताह में 3 दिन चलाने के साथ-साथ श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु डोंगरगढ़ छत्तीसगढ़ में स्टॉपेज देने की मांग भी लंबे समय से की जा रही है. इस पर भी रेल प्रशासन द्वारा कोई निर्णय अभी तक नहीं लिया गया है. सिख धर्म के ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिब तखत श्री हरीमंदिर जी पटना साहिब बिहार के लिए गोंदिया से सीधी सुपरफास्ट ट्रेन सेवा उपलब्ध कराने की मांग भी लंबे समय से सिख समुदाय की ओर से की जा रही है. पत्र व्यवहार के दौरान पटना साहिब के लिए कुछ ट्रेनों को वाया गोंदिया बालाघाट नैनपुर जबलपुर के रास्ते पटना साहिब चलाने की मांग भी रखी गई है एवं दुर्ग से पटना साहिब के लिए प्रतिदिन चलने वाली ट्रेन क्रमांक 13287 साउथ बिहार एक्सप्रेस को गोंदिया तक विस्तार करने की मांग भी रखी गई है. इस पर भी रेल प्रशासन द्वारा अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया.

नागपुर से प्रतिदिन वाया हजूर साहिब नांदेड़ होते हुए मुंबई चलने वाली ट्रेन क्रमांक 11401/02 नंदीग्राम एक्सप्रेस को भी करोना काल के बाद से बंद कर दिया गया है. जिससे नागपुर क्षेत्र के श्रद्धालुओं को सचखंड श्री हजूर साहिब नांदेड़ गुरुद्वारा साहिब धार्मिक यात्रा करने पर बहुत ज्यादा तकलीफ हो रही है और जेब ढीली कर उन्हें प्राइवेट बसों एवं निजी वाहनों से यात्रा करने पर मजबूर होना पढ़ रहा है. अतः दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे डीआरयूसीसी मेंबर इंजीनियर जसपाल सिंह चावला ने रेल प्रशासन से अल्पसंख्यक सिख समुदाय की मांगों को शीघ्रता शीघ्र पूर्ण करने की मांग रखी है एवं नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि अगर रेल प्रशासन अल्पसंख्यक सिख समुदाय को यह सुविधा प्रदान करने मे अपने आप को असहाय महसूस कर रहा है, तो वह साफ-साफ यह जानकारी समुदाय के लोगों को दे दे ताकि समुदाय के लोग अपने वैकल्पिक निजी वाहनों से भविष्य में यात्रा करने के लिए तैयार हो जाए. जिस प्रकार सिख समाज पूरे भारत में मुफ्त लंगर सेवा करते हैं उसी प्रकार सिख समुदाय मुफ्त धार्मिक यात्रा सेवा भी शुरू कर देंगे. सीनियर सिटीजन से लेकर अन्य कई सुविधाएं कोरोना काल के बाद से बंद कर दी गई है. यह सारी सुविधाएं भी शीघ्रता शीघ्र शुरू की जाए, ऐसी मांग डीआरयूसीसी मेंबर इंजीनियर जसपाल सिंह चावला ने की है. एक ओर भारत सरकार प्रदूषण को कम करने पर जोर दे रही है वही रेल प्रशासन अपनी लेटलतीफी एवं लापरवाही से रेल यात्रियों को निजी वाहनों पर यात्रा करने के लिए मजबूर कर रहा है एवं पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रहा है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments