Friday, April 12, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedजिले में आए दिन हो रही चोरी की घटनाएं

जिले में आए दिन हो रही चोरी की घटनाएं

गोंदिया : जिले में शहर सहित सभी तहसीलों में चोरी की घटनाएं बढ़ते ही जा रही है. जिसमें बेटरी, वाटर पंप, वाहन, आभूषण सहित अन्य चोरियों का समावेश है. चोरों के हौंसले इतने बुलंद हो गए हैं कि वे दिन में ही घर के सामने रखे वाहनों को भी चोरी करने से नहीं चुक रहे हैं. शहर के अधिकांश दुकान व घरों में सीसीटीवी केमरे लगे हैं फिर भी यह घटनाएं बढ़ती ही जा रही हैं. बाजार परिसर में ऐसी कई वारदातें हुई हैं जिसमें चोरों ने अनेक वाहनों पर हाथ साफ किया है. कई चोरियों का पुलिस ने पर्दाफाश भी किया है वहीं अनेक मामले अब तक दबे के दबे रह गए है. हेंडल लॉक वाहनों पर भी चोर आसानी से हाथ साफ कर रहे हैं इससे स्पष्ट हो रहा है कि उनके लिए ताला चाबी लगाना कोई मायने नहीं रखता. जिसके कारण लोग अपने वाहनों को रखने से डरते हैं. बढ़ती चोरी की घटनाओं से एक तरफ शहर वासियों में डर का माहौल है तो दूसरी तरफ चोरों का आतंक बढ़ रहा है. सेंधमारी सहित चोरी की घटनाएं हो रही हैं. आए दिन सूने मकानों को चोर अपना निशाना बना रहे हैं दूसरी ओर दुपहिया वाहनों पर भी चोरों की पैनी नजर लगी रहती है देखते ही देखते वे वाहनों को पल भर में उड़ा लेते है. सीसीटीवी फूटेज खंगालने के बाद भी कई बार चोरों का सुराग नहीं लग पाता. इन सब घटनाओं को लेकर जिला वासियों की नींद उड रही है. पुलिस भी रात्रि में गश्त लगाती है लेकिन उनके जाने के बाद चोर अपना काम कर देते है. जिले के लोगों में चोरी की वारदातों को लेकर चिंता व्याप्त है. बेहतर होगा पुलिस सार्थक ढंग से गश्त की प्रक्रिया को संचालित करे. शहर व जिले में एक दिन भी ऐसा नहीं जब चोरी की घटना सामने न आती हो. जिसमें सबसे अधिक चोरी वाहनों की हो रही है. इसके अलावा खेत में लगे वाटर पंप भी आए दिन चोरी हो रहे है. जिसके कारण किसान व आम नागरिक परेशान हो गए हैं. अक्सर देखा गया है की शहर में रात के समय ही अधिकांश घटनाएं होती है. जिसमें कई दुकानों में चोरों ने घटना को अंजाम दिया है. इसमें दुकानों की छत तोड़कर चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया जाता है. कई घटनाओं को पुलिस ने उजागर भी किया है वहीं कई घटनाओं का अभी तक पता नहीं चला है. जिससे चोरों के हौसले बुलंद होते जा रहे है. कई चोरी की घटनाओं में बच्चों का भी समावेश होता है लेकिन उनकी आयु कम होने के कारण उन्हें बाल सुधार गृह में भेज दिया जाता है. शहर के भीड़भाड़ वाले इलाके, बस स्टैंड, मुख्य बाजार, तहसील कार्यालय, धार्मिक स्थल सहित विभिन स्थानों पर चोरी की छुटपुट घटनाओं से लोग परेशान हो रहे हैं. मोबाईल, पाकीट, जेब कतरना ऐसी घटनाएं दिन दहाड़े होती हैं.

हेंडल लॉक वाहन भी चोरी
जिले के नागरिक अपने वाहन से अनेक स्थानों पर जाते है. अपना वाहन सुरक्षित रहे इसके लिए वे अपने वाहन को हेंडल लॉक करके अपने कार्यो को निपटाते है ऐसी सावधानी बरतने के बाद भी चोरों द्वारा हेंडल लॉक वाहनों को भी नहीं बख्शा जाता और वे ऐसे वाहनों के लॉक आसानी से तोड़कर चोरी की घटनाओं को अंजाम देते है. ऐसी वारदात बस स्टेंड, रेलवे स्टेशन, बाजार परिसर में देखने मिलती है जहां पर हर एक दुकान के बाद सीसीटीवी केमरे लगे रहते है फिर भी इन चोरियों का पर्दाफाश नहीं हो पाता वहीं कुछ घटनाओं का सुराग लगाने में पुलिस को सफलता मिलती है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments