Monday, May 20, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedटाउन स्कूल परिसर में कूड़ा डंपिंग

टाउन स्कूल परिसर में कूड़ा डंपिंग

नगर पालिका के अजब करामत : नागरिकों में भारी रोष
गोंदिया. गोंदिया नगर परिषद द्वारा स्वच्छता पर स्वच्छ भारत व स्वच्छ महाराष्ट्र अभियान के तहत लाखों रु. का खर्च कर स्वच्छता सफाई का कार्य किया जा रहा है. लेकिन घन कचरा प्रकल्प की समस्या का निराकरण नहीं होने से फिर से शहर के मध्य नगर परिषद कार्यालय से लगे टाउन स्कूल में शहर का कचरा जमा कर डंपिंग यार्ड बना दिया गया है. जिससे शहर में गंदगी, बदबू वह बीमारी फैलने का खतरा बढ़ गया है. जिससे नागरिकों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.
उल्लेखनीय यह है की 100 वर्ष से अधिक की नगर परिषद होने के बावजूद गोंदिया नगर परिषद का स्वयं का डंपिंग यार्ड वह घन कचरा प्रकल्प नहीं है. गत कुछ वर्षों से निजी एजेंसी को गोरेगांव एमआईडीसी हिरडामाली के डंपिंग यार्ड के घन कचरा प्रकल्प में शहर से निकलने वाला कचरा भेजा जा रहा है. जिसके लिए लाखों रु. प्रति माह का भुगतान गोंदिया नगर परिषद द्वारा निजी एजेंसी को किया जा रहा है. लेकिन समय-समय पर ग्राम के नागरिकों के विरोध के चलते प्रकल्प में कचरे की गाड़ियां नहीं जा पाती. कुछ समय पूर्ण मोक्षधाम परिसर में कचरा डाला जाता था. लेकिन नागरिकों के भारी विरोध के चलते मोक्षधाम परिसर में नगर परिषद द्वारा कचरा डंप करना बंद किया गया. लेकिन अब शहर के मध्य नगर परिषद कार्यालय से लगे टाउन स्कूल परिसर में प्रतिदिन हापर गाड़ी से निकलने वाला कचरा जमा गत दिनों से किया जा रहा है. जिससे परिसर में गंदगी वह बदबू के साथ-साथ गंभीर बीमारियां फैलने का शहर में खतरा निर्माण हो गया है. उल्लेखनीय है कि टाउन स्कूल नगर परिषद कार्यालय, गांधी प्रतिमा व पुराना गंज बाजार रोड पर स्थित है. जहां पर बड़ी संख्या में व्यावसायिक प्रतिष्ठान व नागरिकों के रहवासी निवास है.

सरासर टालमटोल
घन कचरा प्रकल्प के लिए नगर परिषद को पिछले 10 साल पहले अमृत योजना के तहत पैसा मिला था. उस पैसे से पालिका को लाखों रु. का ब्याज मिलता है. गोंदिया क्षेत्र में बड़े भूखंड बिक्री के लिए उपलब्ध हैं. पहले आरोप था कि अधिकारी विरोध कर रहे हैं. लेकिन अब नगर परिषद पर प्रशासक का शासन है. इसलिए अधिकारी अपनी इच्छानुसार जमीन ले सकते हैं. लेकिन प्रशासक ने भी जगह ढूंढने का प्रयास नहीं किया है. परिणामस्वरूप गोंदियावासी आज भी नगर परिषद की लापरवाही का परिणाम भूगत रहे हैं. लेकिन नगर पालिका ब्याज के पैसे से मौज करने में व्यस्त है.

ग्रामीणों ने खुली गाड़ी को बंद करवाया
गोरेगांव एमआईडीसी हिरडामाली में निजी घनकचरा प्रकल्प में ट्रैक्टर के माध्यम से कचरा भिजवाया जाता था. लेकिन ग्रामीणों द्वारा खुली गाड़ी में कचरा आने वह संपूर्ण मार्ग पर फैलने की परेशानी के चलते खुली गाड़ियों से आने वाले कचरे की गाड़ियों को रोका गया. जिसके चलते टाउन स्कूल में कचरा डाला गया तथा अब हापर से कचरा प्रकल्प में भेजा जाएगा.
मनीष बैरीसाल, स्वास्थ्य निरीक्षक, नगर परिषद गोंदिया

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments