Thursday, July 25, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedधापेवाड़ा उपसा सिंचाई चरण 2 का निरीक्षण 15 जुलाई के बाद :...

धापेवाड़ा उपसा सिंचाई चरण 2 का निरीक्षण 15 जुलाई के बाद : विधायक रहांगडाले

गोंदिया : विधायक विजय रहांगडाले क्षेत्र में सिंचाई व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए लगातार प्रयासरत हैं और किसानों को जल्द से जल्द धापेवाड़ा चरण 2 का पानी मिले इसके लिए मंत्रालय और विभागीय स्तर पर हर पखवाड़े समीक्षा की जा रही है. एक बैठक सिंचाई कार्यों के लिए आयोजित की गई थी. जिसमें मुख्य रूप से धापेवाड़ा चरण 2 योजना के पंप हाउस के निर्माण कार्यों का यांत्रिक विभाग द्वारा निरीक्षण किया जाएगा और विद्युत विभाग के तहत कार्यों को 15 जुलाई तक पूरा किया जाएगा.
धापेवाड़ा उपसा सिंचाई चरण-2 के अंतर्गत चोरखमारा व बोदलकसा तालाब के अंतर्गत वितरण प्रणाली जिससे किसानों के खेतों तक पानी जाएगा. वितरण प्रणाली को नवीनीकृत करना आवश्यक है और यह सिंचाई प्रणाली प्रदान करने के कार्य के समन्वय के संदर्भ में फायदेमंद होगा. जिसमें बोदालकसा प्रकल्प पर 2022-23 में 158.43 लाख के मरम्मत कार्य प्रगति पर हैं. चोरखमारा प्रकल्प पर 79.61 लाख के मरम्मत कार्य प्रगति पर हैं और 2023-24 में दोनों तलाबों की मरम्मत के लिए 290.77 करोड़ की योजना बनाई गई है. तिरोड़ा तहसील के मेंढा और पालडोंगरी में मामा तलाब की मरम्मत के लिए 2016 में 95.98 लाख रु. के कार्य की प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है और उक्त कार्य अभी तक शुरू नहीं होने पर विधायक ने नाराजगी व्यक्त की. विभाग के माध्यम से बताया गया कि टेंडर प्रक्रिया होगी. विभाग के माध्यम से जानकारी दी गई कि टेंडर प्रक्रिया शीघ्र पूरी कर कार्य तेजी से कराये जायेंगे. धापेवाड़ा उपसा सिंचाई चरण-1 योजना के पंप अवधि समाप्त होने के कारण बार-बार खराब होने के कारण विभाग के माध्यम से विधायकों को अवगत कराया गया कि उक्त कार्य के लिए 10-12 करोड़ की निधि की आवश्यकता है. विधायक ने गवाही दी कि वह तुरंत मंत्री से मांग करेंगे. नीमगांव (आंबेनाला) मिनी प्रकल्प के कार्य पर चर्चा की गई. नीमगांव प्रकल्प को छोड़कर, दोनों किनारों पर मिट्टी का काम 1974 से 1984 तक पूरा किया गया था और वन संरक्षण अधिनियम के कार्यान्वयन के कारण प्रकल्प का काम शुरू नहीं किया गया था. विधायक रहांगडाले ने इस प्रकल्प के काम को आगे बढ़ाया है और महाराष्ट्र सरकार ने 24 अपैल 2023 को केंद्र सरकार को एक अनुपालन रिपोर्ट सौंपी है. विभाग ने सूचित किया है कि उक्त प्रकल्प के लिए कैट प्लान को मंजूरी दे दी गई है और इसे प्रस्तुत किया गया है. इस अवसर पर कार्यकारी संचालक राजेंद्र मोहिते, मुख्य अभियंता आशीष देवगड़े, प्रकाश पवार, अधीक्षक अभियंता क.सू. वेमुलकोंडा, पराते, जे.एम. गंटावार, अंकुर कापसे, सोनाली सोनूले, गायधने उपस्थित थे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments