Friday, April 12, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedनागपुर में बनेगा लॉजिस्टिक हब

नागपुर में बनेगा लॉजिस्टिक हब

फडणवीस ने बजट में रखा अपने गृह क्षेत्र का ख्याल
मुंबई। प्रदेश की शिंदे-फडणवीस सरकार ने साल 2023-24 के बजट में विदर्भ अंचल के लिए घोषणाओं की बौछार की है। उपमुख्यमंत्री तथा वित्त मंत्री देवेंद्र फडणवीस ने अपने गृह जिले तथा उपराजधानी नागपुर के लिए सरकारी तिजोरीखोल दिया है। वित्त मंत्री के रूप में पहली बार राज्य सरकार का बजट पेश करने वाले फडणवीस अपने शहर पर मेहरबान नजर आए। उन्होंनेबजट भाषण में लगभग दर्जनभर बार नागपुर का जिक्र किया।

भाजपा को हाल में हुए विधान परिषद की अमरावती स्नातक और नागपुर शिक्षक सीट पर हार मिली थी। आगामी चुनावों को देखते हुए शिंदे-फडणवीस सरकार नेअपने गढ़ नागपुर के लिए कई योजनाओं को लागू करने का फैसला लिया है। वित्त मंत्री ने बजट में नागपुर-गोवा महाराष्ट्र शक्तिपीठ महामार्ग बनाने की घोषणा की है। नागपुर-गोवा महामार्ग वर्धा जिले के पवनार से सिंधुदुर्ग जिले के पात्रादेवी तक बनाया जाएगा। यह महामार्ग छह जिले वर्धा, यवतमाल, सोलापुर, सांगली, कोल्हापुर, सिंधुदुर्ग जिले से होकर गुजरेगा। 760 किमी लंबी इस महामार्ग परियोजना पर 86 हजार 300 करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है। नागपुर-गोवा महामार्ग से माहूर, तुलजापुर, कोल्हापुर, अंबेजोगाई शक्तिपीठ जोड़े जाएंगे। इसके अलावा हिंगोली के औंढा नागनाथ, बीड़ के परली वैजनाथ ज्योर्तिंलग, नांदेड़ के तख्त सचखंड श्रीहुजूर साहिब गुरुद्वारा, महाराष्ट्र के अराध्यदैवता पंढरपुर के विट्ठल- रुक्मिणी, कारंजा लाड, अक्कलकोट, गाणगापुर, नरसोबा की वाडी, औदुंबर जैसे तीर्थ स्थल जुड़ सकेंगे। इस महामार्ग परियोजना की तकनीकी और वित्तीय व्यवहार्यता रिपोर्ट तैयार हो रही है।

सर्कुलर इकोनॉमी पार्क
प्रदेश में नागपुर, छत्रपति संभाजीनगर, नाशिक, रत्नागिरी, पुणे और मुंबई महानगर प्रदेश क्षेत्र में सर्कुलर इकोनॉमी पार्क बनाने का सरकार का इरादा है। केंद्र सरकार की रियूज, रिसायकल, रिड्यूस पर आधारित सर्कुलर इकोनॉमी नीति के अनुरुप उद्योग स्थापित करने का लक्ष्य है।

संतरा प्रक्रिया केंद्र
नागपुर के काटोल व कलमेश्वर, अमरावती के मोर्शी और बुलढाणा में आधुनिक संतरा प्रक्रिया केंद्र स्थापित किए जाएंगे। इस परियोजना के लिए 20 करोड़ रुपए निधि उपलब्ध कराई जाएगी।

मिहान के लिए 100 करोड़
नागपुर के मिहान परियोजना के लिए 100 करोड़ रुपए प्रावधान बजट में किया गया है। जबकि अमरावती के बेलोरा और अकोला के शिवणी हवाई अड्डा का काम पूरा करने की योजना है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments