Thursday, July 25, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedपार्किंग प्लाजा के बाहर खडे करते है वाहन

पार्किंग प्लाजा के बाहर खडे करते है वाहन

शहर में जाम की समस्या बनी हुई : संबंधित विभाग की लापरवाही
गोंदिया. शहर में पार्किंग व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए 6 करोड़ रु. से अधिक की लागत से पार्किंग स्थल का निर्माण कराया गया. आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित भवन में सैकड़ों वाहनों की पार्किंग की सुविधा उपलब्ध कराई गई है. हालांकि कुछ वाहन चालक नियमित रूप से अपने वाहन पार्किंग स्थल में पार्क करते हैं, फिर भी 60 प्रश. वाहन चालक अपने वाहनों को सड़क पर ही खड़े कर देते हैं. इसके चलते शहर में आए दिन जाम लग रहा है और संबंधित विभाग इसे नजरअंदाज कर रहा है.
गोंदिया शहर जिला मुख्यालय है, इसलिए हर दिन हजारों नागरिक, छोटे व्यापारी, सब्जी विक्रेता शहर में प्रवेश करते हैं. कारोबारी सुविधा के हिसाब से कारोबार कर रहे हैं. लेकिन किसी भी कारोबारी ने खरीदारों की सुविधा के लिए पार्किंग की व्यवस्था नहीं की है. इसलिए जरूरी सामान खरीदने आने वाले ग्राहक दुकानों के सामने सड़क किनारे अपने वाहन खड़े कर देते हैं. अनियंत्रित वाहनों के कारण यातायात बाधित है. सड़कों पर हमेशा जाम लगा रहने से नागरिकों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इतना ही नहीं वाहन चोरी की भी कई घटनाएं होती हैं. शहर में पार्किंग की भीषण समस्या को दूर करने और वाहन चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए स्थानीय नगर परिषद ने 6 करोड़ रु. से अधिक खर्च कर शहर थाने के पिछले इलाके में बहुमंजिला पार्किंग प्लाजा भवन का निर्माण कराया है. भवन का निर्माण आधुनिक तरीके से किया गया था. दोपहिया, तीन पहिया और चौपहिया वाहनों के लिए पार्किंग की सुविधा प्रदान की गई है. पिछले साल पार्किंग प्लाजा भवन का औपचारिक उद्घाटन भी किया गया. लेकिन कुछ समझदार वाहन मालिकों को छोड़कर, अधिकांश वाहन चालक अपने वाहनों को पार्किंग प्लाजा के बजाय सड़क पर पार्क करते हैं. जिससे सड़क पर जाम लगने के साथ ही नगर परिषद के राजस्व की भी क्षति होती है. खड़े वाहनों ने फुटपाथ को निगल लिया है और पैदल यात्रियों के लिए सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है.

पार्किंग स्थल बना सुभाष स्कूल मैदान
वाहन अड्डे से कुछ ही दूरी पर नगर परिषद का सुभाष स्कूल मैदान है. इस मैदान पर यार्ड की दीवार और गेट लगाया गया है, लेकिन इस मैदान के बगल में स्थित गुरु नानक स्कूल के प्रशासन द्वारा इस मैदान का गेट खुला रखा गया है. बहुत से लोग अपने वाहन पार्किंग प्लाजा के बजाय स्कूल के मैदान में पार्क करते हैं. जिससे पार्किंग प्लाजा को नुकसान हो रहा है.

पार्किंग प्लाजा के ठीक बगल में अवैध पार्किंग
इस पार्किंग प्लाजा में वाहन पार्क करने के लिए नगर परिषद कारों से 50 रु. प्रति 6 घंटे और दोपहिया वाहनों से 20 रु. प्रति 6 घंटे का शुल्क ले रही है. लेकिन लाखों रु. के वाहन की सुरक्षा के लिए चालक किराया देने में असमर्थता जताते हैं. कुछ मुजोर वाहन चालक पार्किंग प्लाजा के सामने सड़क पर अवैध रूप से अपने वाहन पार्क करते हैं.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments