Saturday, June 22, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedप्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश सफलता के शिखर पर : पालकमंत्री...

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश सफलता के शिखर पर : पालकमंत्री आत्राम

पंस के नए प्रशासकीय इमारत का उद्घाटन
गोंदिया. मोदी सरकार का काल स्वर्ण युग माना जाएगा. सरकार देश के अंतिम छोर पर खड़े आम आदमी को विकास का केंद्र मानकर विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं लागू कर रही है. भविष्य में इस देश का नेतृत्व महिलाओं के हाथों में सौंप दिया जाएगा. महिला आरक्षण विधेयक के कारण अब देश में सामान्य महिलाएं विधायक, सांसद बनेंगी. इस विधेयक से राजनीतिक क्षेत्र में महिलाओं की हिस्सेदारी बढ़ गई. महिला स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से नारी शक्ति का उदय हुआ. मोदी ने महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए कई क्रांतिकारी फैसले लिए. ग्रामीण सड़क विकास के लिए 5,000 करोड़ रु. की भगवान बिरसा मुंडा योजना शुरू की गई. देश-दुनिया में विकास का डंका बज रहा है. अयोध्या में श्रीराम प्राण प्रतिष्ठा समारोह मनाया गया और पूरा देश राममय हो गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश शिखर पर पहुंच रहा है, ऐसा प्रतिपादन जिले के पालकमंत्री धर्मरावबाबा आत्राम ने यहां पंचायत समिति के नए प्रशासकीय इमारत के उद्घाटन समारोह व्यक्त किए.
इस समारोह की अध्यक्षता पंस सभापति सविता कोडापे ने की. इस अवसर पर विधायक मनोहर चंद्रिकापुरे, जिप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनिल पाटिल, उपसभापति होमराज पुस्तोडे, राकांपा महासचिव गंगाधर परशुरामकर, जिप उपाध्यक्ष यशवंतराव गणवीर, उपविभागीय अधिकारी वरुणकुमार शहारे, तहसीलदार अनिरुद्ध कांबले, जिप सदस्य लायकराम भेंडारकर, कविता कापगते, श्रीकांत घाटबांधे, जयश्री देशमुख, पौर्णिमा ढेंगे, पंस सदस्य नूतनलाल सोनवाने, डा. नाजुक कुंभरे, दुर्योधन मैद, पार्षद दानेश साखरे, राकेश जायस्वाल, चंद्रशेखर ठवरे मुख्य रूप से उपस्थित थे. आत्राम ने आगे कहा, मैंने तीन महीने पहले पालकमंत्री पद का कार्यभार संभाला है. वन अधिनियम के कारण गोंदिया, गढ़चिरोली में विकास कार्यों में तकनीकी कठिनाइयां आ रही हैं. हम उन्हें हल करने का प्रयास करेंगे. जिला योजना समिति की राशि बढ़ाने के लिए उपमुख्यमंत्री अजीत दादा से अनुरोध किया गया है. महायुति सरकार में करोड़ों का काम हुआ. मार्च में आचार संहिता लागू हो सकती है. अधिकारी व पदाधिकारी विकासात्मक प्रस्ताव शीघ्र प्रस्तुत करें. सरकार में काम करने के लिए इच्छाशक्ति और अनुभव महत्वपूर्ण है. मैं जब भी विधायक बना, मंत्री बना, कृषि पंपों को 12 घंटे बिजली आपूर्ति दिलाने के लिए ऊर्जा मंत्री से बातचीत किया. उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में ईको-टूरिझम और पर्यटन को बढ़ाने के प्रयास किए जाएंगे. कार्यक्रम की शुरुआत संत गाडगेबाबा, संत तुकडोजी महाराज, सावित्रीबाई फुले की प्रतिमा पूजा से हुई. नवनिर्मित प्रशासकीय इमारत का उद्घाटन आत्राम ने किया. प्रस्तावना प्रभारी बीडीओ विलास निमजे ने रखी. संचालन विस्तार अधिकारी डी.डी. लंजे ने किया व आभार विस्तार अधिकारी अनिल चव्हाण ने माना.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments