Wednesday, April 24, 2024
Google search engine
Homeदेशभारतीय जवान गलती से पाकिस्तान पहुंचा:BSF अफसरों ने पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ...

भारतीय जवान गलती से पाकिस्तान पहुंचा:BSF अफसरों ने पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ मीटिंग की तब उन्होंने जवान को लौटाया

पंजाब में भारत-पाकिस्तान इंटरनेशनल बॉर्डर पर तैनात बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) का एक जवान गुरुवार सुबह करीब 6:30 बजे गलती से जीरो लाइन पार कर पाकिस्तानी इलाके में पहुंच गया। घने कोहरे के कारण जवान से यह गलती हो गई। पाकिस्तानी एरिया में पहुंचते ही इस जवान को पाक रेंजर्स ने गिरफ्तार कर लिया।

लापता हुआ जवान BSF की 66 बटालियन से है। जैसे ही उसके बॉर्डर पार करने की सूचना मिली आला अधिकारी हरकत में आ गए। आनन-फानन में पाकिस्तानी रेंजर्स के सीनियर अधिकारियों से संपर्क किया गया तो उन्होंने इस बात की पुष्टि कर दी कि BSF जवान उनके कब्जे में है।

इसके बाद BSF अधिकारियों ने पाक रेंजर्स के साथ इमरजेंसी मीटिंग कॉल करके जवान को रिलीज करने के लिए कहा। शुरुआती ना-नुकर के बाद पाक रेंजर्स BSF जवान को छोड़ने के लिए तैयार हो गए। यह पूरी घटना पंजाब में BSF के फिरोजपुर सेक्टर के अबोहर एरिया की है।

हाजिरी के दौरान चला पता
धुंध इतनी ज्यादा थी कि BSF को तीन घंटे तक पता ही नहीं चला कि उनका एक साथी गायब है। सुबह 9.30 बजे बॉर्डर पर गश्त करने गए जवान जब लौटे तो उनकी हाजिरी ली गई। इस दौरान एक जवान कम निकला। जब इधर-उधर पता करने के बाद भी जवान का कुछ पता नहीं चला तो बटालियन में हलचल मच गई।

आनन-फानन में पूरे एरिया में सर्च शुरू की गई, लेकिन जवान का कुछ पता नहीं चला। इसके बाद जब पाकिस्तानी रेंजर्स से संपर्क किया गया तो उन्होंने जवान के उनकी कस्टडी में होने की पुष्टि की। पाकिस्तानी रेंजर्स की ओर से बताया गया कि इस जवान को इसलिए गिरफ्तार किया गया क्योंकि वह इंटरनेशनल बॉर्डर लांघकर उनके एरिया में पहुंच गया था।

एक के बाद एक कई मीटिंग कीं तब जवान को लौटाया गया
BSF की 66 बटालियन के अफसरों ने जवान के दुश्मन मुल्क की सरहद में पहुंच जाने और उसकी गिरफ्तारी की सूचना तुरंत अपने आला अधिकारियों को दी। इसके बाद पाकिस्तानी रेंजर्स के साथ इमरजेंसी मीटिंग कॉल की गई। BSF अफसरों ने कई दौर की मीटिंग की तब पाकिस्तानी रेंजर्स BSF जवान को रिलीज करने के लिए तैयार हुए। दोपहर बाद पाक रेंजर्स ने भारत को उसका जवान लौटा दिया।

फेंसिंग से आगे भी भारत का इलाका

भारत ने पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ और आर्म्स-ड्रग स्मगलिंग रोकने के लिए तारबंदी (फेंसिंग)कर रखी है। 10 से 11 फीट ऊंची ये फेंसिंग भारतीय सीमा के अंदर की गई है और इससे 300 से 500 मीटर आगे इंटरनेशनल बॉर्डर (जीरो लाइन) है जहां सफेद लाइन खींची रहती है। फेंसिंग के पार पड़ते भारतीय क्षेत्र में किसान खेती भी करते हैं। फेंसिंग के पार जाने वाले इन किसानों को BSF की ओर से बाकायदा कार्ड जारी किए जाते हैं। जब भी कोई किसान फेंसिंग के पार पड़ते खेतों में जाता है तो BSF के जवान निगरानी के लिए उनके साथ जाते हैं।

फेंसिंग के आगे भी चैकिंग करते हैं जवान

पाकिस्तान में बैठे स्मगलर सर्दी में छाने वाले घने कोहरे का फायदा उठाकर भारतीय सीमा में हथियार और ड्रग रख जाते हैं। भारत में एक्टिव उनके साथी चोरी-छिपे ये हथियार-ड्रग उठा लाते हैं। इसे रोकने के लिए BSF के जवान पूरे एरिया में लगातार सर्च करते रहते हैं। सर्च के लिए BSF जवान फेंसिंग के दूसरी तरफ पड़ते भारतीय क्षेत्र में भी जाते रहते हैं। गुरुवार को इसी एरिया में सर्च कर रहा BSF का जवान घनी धुंध की वजह से जीरो लाइन नहीं देख पाया और गलती से पाकिस्तानी इलाके में पहुंच गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments