Friday, June 14, 2024
Google search engine
Homeदेशमुख्यमंत्री एमके स्टालिन: महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश की तर्ज पर तमिलनाडु करेगा...

मुख्यमंत्री एमके स्टालिन: महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश की तर्ज पर तमिलनाडु करेगा एलीट एटीएस का गठन

हाईलाइट

  • विस्फोटक आदि से लदी एक कार चलाई थी

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। तमिलनाडु में महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश की तर्ज पर आतंकवाद से संबंधित गतिविधियों का प्रभावी ढंग से मुकाबला करने के लिए जल्द ही एक एलीट यानी विशिष्ट आतंकवाद विरोधी दस्ते (एटीएस) का गठन किया जाएगा। ज्ञात हो कि कोयम्बटूर में 23 अक्टूबर को एक मंदिर के बाहर कार में विस्फोट विस्फोट हुआ था, जिसमें 29 वर्षीय जमीशा मुबीन की जलकर मौत हो गई थी। इसके बाद मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने ऐलान किया था कि राज्य एक एलीट एटीएस का गठन करेगा। इंजीनियर मुबीन ने दो गैस सिलेंडर, विस्फोटक आदि से लदी एक कार चलाई थी, जिसमें धमाका हो गया था। इसी दौरान जलकर उसकी मौत हो गई थी।

रिपोर्ट के अनुसार, डीजीपी सी. सिलेंद्र बाबू के नेतृत्व में तमिलनाडु के पुलिस अधिकारियों के एक प्रतिनिधिमंडल ने बीते दिनों में महाराष्ट्र एटीएस और आंध्र प्रदेश पुलिस के आग्रेनाइजेशन फॉर काउंटर टेररिस्ट ऑपरेशन (ओसीटीओपीयूएस) के दफ्तरों का दौरा किया और तमिलनाडु में एक समान बल का गठन करने के लिए उनसे इनपुट लिया।

तमिलनाडु पुलिस मुख्यालय के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि अधिकारियों को महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश के बलों से इनपुट मिले हैं, जिन्हें तमिलनाडु में एक समान एलीट बल का गठन करते समय शामिल किया जाएगा। अधिकारियों ने बताया, एक विस्तृत रिपोर्ट राज्य सरकार को उपलब्ध कराई जाएगी और एक बार मंजूरी मिलने के बाद एलीट बल के गठन के लिए कदम उठाए जाएंगे।

राज्य सरकार एलीट बल के लिए एक अलग ट्रेनिंग केंद्र बनाने की भी योजना बना रही है जहां अधिकारियों को भारतीय सेना के साथ-साथ विभिन्न राज्यों की अन्य कमांडो यूनिटों के द्वारा ट्रेनिंग दी जाएगी। सरकार बल के लिए 18 से 21 साल के आयु वर्ग के युवाओं की भर्ती करने की योजना बना रही है, जिनकी यूनिट्स चेन्नई, कोयम्बटूर, मदुरै और तिरुनेलवेली में स्थापित की जाएंगी। सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि प्रत्येक इकाई में 40 से 50 कर्मियों को तैनात किया जाएगा। स्पेशल फोर्स केंद्रीय एजेंसियों के साथ-साथ अन्य राज्यों की खुफिया एजेंसियों के साथ मिलकर काम करेगी। यदि जरूरत पड़ती है तो उन्हें अन्य राज्यों में भी भेजा जाएगा।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments