Wednesday, May 22, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedजिले में 103 प्रश. रोपाई

जिले में 103 प्रश. रोपाई

किसानों ने धान की खेती की परंपरा को रखा बरकरार
गोंदिया. जिले में धान किसानों की मुख्य फसल है और इसी वजह से जिले में धान की खेती सबसे ज्यादा की जाती है. इस साल भी किसानों ने धान की खेती की अपनी परंपरा को बरकरार रखा है और अब तक के आंकड़ों के मुताबिक जिले में 103 प्रश. रोपाई पूरी हो चुकी है. इसमें और बढ़ोतरी होने की संभावना है.
यह जिला देश-विदेश में ‘चावल नगरी’ के नाम से जाना जाता है. यहां के धान की खासियत यह है कि यह न केवल देश के कोने-कोने में बल्कि विदेशों में भी बड़ी मात्रा में भेजा जाता है. जिले को मिली इस उपाधि के अनुसार यहां के किसान धान की खेती को प्राथमिकता देते हैं. अधिकतर किसान धान की ही खेती करते हैं. यही कारण है कि अन्य फसलों की खेती कम की जाती है. यहां 1 लाख 80 हजार से ज्यादा क्षेत्र में किसान धान की खेती करते हैं. उल्लेखनीय यह है कि खरीप के साथ-साथ रबी सीजन में भी धान की खेती की जाती है. इस वर्ष समय पर बारिश न होने के कारण कृषि कार्य में देरी हुई. लेकिन जुलाई और अब अगस्त में हुई बारिश के कारण लंबित काम निपटाया ज रहा है. इसके चलते इस वर्ष किसानों ने 1 लाख 87 हजार 482.48 हेक्टेयर क्षेत्र में धान की रोपाई की है, जिसका प्रतिशत 103 है. यानी सामान्य क्षेत्र से भी अधिक क्षेत्र में धान की खेती की गई है. शुरुआत में तो बारिश ने धोका दे दिया. लेकिन अब बारिश की साथ मिली तो धान की बंपर पैदावार होगी.

किसानों का रोपाई पर अधिक ध्यान
जिले में धान की फसल की खेती रोपाई व बावत्या द्वारा की जाती है. इसके अनुसार इस वर्ष 18 हजार 509.40 हेक्टेयर क्षेत्र में नर्सरी लगाई गई है. जिसके बाद 1 लाख 81 हजार 59 हेक्टेयर क्षेत्र में रोपाई की गई है. अतः 6 हजार 423.40 हेक्टेयर क्षेत्र में बावत्या डाला गया है. इस प्रकार कुल 1 लाख 87 हजार 482.48 हेक्टेयर क्षेत्र में धान की रोपाई पूरी हो चुकी है. इस वर्ष सामान्य धान का रकबा 1 लाख 80 हजार 997.30 हेक्टेयर था. लेकिन धान की रोपाई 1 लाख 87 हजार 482.48 हेक्टेयर क्षेत्रफल में हुई है, जिसका प्रतिशत 103.58 है.

गोंदिया तहसील पीछे
जिले के किसान कृषि विभाग द्वारा निर्धारित सामान्य रकबे से अधिक धान की खेती कर रहे हैं, जिससे खेती का रकबा बढ़ रहा है और रोपाई का प्रतिशत 103 तक पहुंच गया है. इसके और बढ़ने की संभावना है. लेकिन अब तक केवल गोंदिया तहसील में सामान्य क्षेत्र से कम क्षेत्र में धान लगाया गया है. गोंदिया तहसील का सामान्य क्षेत्रफल 36 हजार 879.86 हेक्टेयर है और 35 हजार 773.46 हेक्टेयर में रोपाई पूरी हो चुकी है. अन्य सभी सात तहसीलों में सामान्य क्षेत्र से अधिक क्षेत्र में रोपाई किया गया है, और रोपाई पूरी भी हो चुकी है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments