Thursday, July 25, 2024
Google search engine
HomeUncategorized9 वर्षो से लटकी पड़ी साकोली के भेल परियोजना की जगह पर...

9 वर्षो से लटकी पड़ी साकोली के भेल परियोजना की जगह पर स्थापित हो अन्य उद्योग धंदे : पूर्व पालकमंत्री डॉ. फुके

डॉ. परिणय फुके के पत्र पर उद्योग मंत्री उदय सामंत ने लिया एक्शन, भेल को जारी हुई अंतिम सूचना
गोंदिया. 26 जुलाई
भंडारा और गोंदिया जिले के शिक्षित, बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर निर्माण करने के उद्देश्य से भंडारा जिले के साकोली तहसील अंतर्गत ग्राम मुंडिपार में 270 किसानों से 510 एकड़ भूमि का अधिग्रहण कर भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल) कारखाना स्थापित किया जाएगा का खूब नगाड़ा बजाया गया, पर आज 9 साल बीत गए। उस अधिग्रहण की गई जमीन पर अबतक भेल प्रोजेक्ट ना आकर दोनों जिलों के बेरोजगार युवाओँ के साथ अन्याय किया गया।
भेल के इस मामले को लेकर जिले के पूर्व पालकमंत्री डॉ. परिणय फुके शुरुवाती समय से संघर्षशील रहे और जिले में नए उद्योग स्थापित करने का उनका प्रयास रहा है।
श्री फुके ने भेल परियोजना के लिए किसानों से ली गई मुंडिपार कि इस 510 एकड़ जमीन पर भेल द्वारा अबतक 9 सालों में कोई कार्य न करने पर तथा महाराष्ट्र औद्योगिक विकास महामंडल द्वारा बार-बार नोटिस भेजने के बावजूद कोई जवाब न देना इसे गंभीर मामला बताया।
इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पूर्व पालकमंत्री डॉ. परिणय फुके ने महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री उदय सामंत से मुलाकात कर भेल द्वारा संपादित की गई भूमि का मसला रख, इस भूमि पर एमआईडीसी के माध्यम से अन्य महत्वपूर्ण उद्योग धंदे शुरू करने की मांग शासन स्तर पर की। उन्होंने कहा, अगर उद्योग क्रांति के नए आयाम स्थापित होते है तो भंडारा और गोंदिया जिले के विकास को बढ़ावा मिलेगा।
उद्योग मंत्री उदय सामंत ने डॉ. फुके द्वारा रखे गए इस गंभीर मुद्दे पर त्वरित संज्ञान लेकर भेल ले प्रति कड़ा रुख दर्शाया और अंतिम नोटिस भेजने के निर्देश दिए। मंत्री श्री सामंत के निर्देश मिलते ही भेल को फाइनल नोटिस जारी कर 15 दिन में जवाब देने कहा है। अगर जवाब नहीं आता है तो एमआईडीसी उक्त जगह पर अन्य उद्योग धंदे हेतु शासन स्तर पर कार्रवाई करेंगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments