Saturday, June 22, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedविधायक अग्रवाल की पहल पर नगर पालिका करेंगी एक-दो दिन में महासफाई...

विधायक अग्रवाल की पहल पर नगर पालिका करेंगी एक-दो दिन में महासफाई अभियान की शुरुआत

हर गली, नाली, में चलेगी सफाई, शहर होगा पूर्णतः स्वच्छ..

गोंदिया : शहर में कूड़े-कचरे के अंबार एवं अस्वच्छता के चलते पूरे शहर में गंदगी का साम्राज्य है। अस्वच्छता को लेकर पिछले अनेक दिनों से शहर वासियों की शिकायतें प्राप्त हो रही थी पर नगर परिषद प्रशासक इस विकराल समस्या पर ध्यानकेन्द्रित नही कर रहा था।

इस मामले पर बार-बार आ रही शिकायतों पर क्षेत्र के विधायक विनोद अग्रवाल ने नगर पालिका पर नाराजगी व्यक्त कर आनन-फानन में एक बैठक बुलाकर शहर को गंदगी मुक्त करने कड़े निर्देश दिए। बैठक में नगर परिषद के प्रशासक व मुख्य अधिकारी करणकुमार चौहान एवं अन्य अधिकारी की मौजूदगी रही। इस बैठक में विधायक विनोद अग्रवाल ने शहर में व्याप्त गंदगी, जगह-जगह कूड़े कचरे के ढेर, मलबे व गंदगी से भरी नालियों के मामले पर तीव्र नाराज़गी व्यक्त कर अधिकारियों को फटकार लगाई। विधायक अग्रवाल ने कहा, शहर में स्वच्छता को लेकर नगर पालिका ढिलाई बरत रही है। शहर के हर प्रभाग से शिकायत आ रही है। हर जगह कूड़ा कचरे का अंबार लगा है। नियमित सफाई न होने से बीमारियों का प्रकोप बढ़ रहा है। विधायक विनोद अग्रवाल ने शहर में स्वच्छता अभियान हेतु एक मेगा ड्राइव मुहिम चलाने के नगर परिषद को शख्त निर्देश दिए और कहा कि शहर की हर गली, नालियों, रास्तों को स्वच्छ करने महासफाई अभियान चलाया जाए। इस मेगा ड्राइव की शुरुवात एक-दो दिन के भीतर शुरू की जाए। उन्होंने ये भी कहा कि, जल्द शहर के कचरे को ठिकाने लगाने व उसपर प्रक्रिया हेतु मंत्रालय स्तर पर आगामी दिनों में महत्वपूर्ण बैठक मुंबई में होने वाली है। इस बैठक में शहर के कचरे को लेकर एमआईडीसी में जगह उपलब्ध कराने पर सकारात्मक योग्य पहल ओर चर्चा होंगी। नगर परिषद के मुख्याधिकारी श्री चौहान ने विधायक विनोद अग्रवाल द्वारा मिले आदेशों पर त्वरित संज्ञान लेकर सम्बंधित अधिकारियों को साफ सफाई हेतु मेगा ड्राइव मुहिम चलाने हेतु निर्देश दिए है। एक-दो दिन के भीतर इस महा सफाई अभियान की शुरुवात करने का विश्वास सीओ श्री चौहान ने दिया।

शहर की जनता से अपील..

विधायक विनोद अग्रवाल ने शहर की जनता से विनम्र अपील की है कि, वे अपने घरों का कूड़ा-करकट, प्रतिष्ठानों का कचरा, चाहे सूखा हो या गीला उसे अलग-अलग डिब्बों में भरकर कुड़ेदानी में ही फेंके या फिर घँटा गाड़ियों को दें। अन्य जगह, नालियों में कूड़ा कचरा फेंकने से वो सड़ जाता है, नालियां चोक हो जाती है जिससे संक्रमण पैदा होता है। हमें संकल्प लेना चाहिए कि हम अपने परिसर को स्वच्छ रखकर किट जन्य संक्रमण से परिसर को मुक्त रखने का प्रयास करेंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments