Wednesday, May 22, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedकिसानों की परंपरा को कायम रखने के लिए शंकरपट का आयोजन जरूरी...

किसानों की परंपरा को कायम रखने के लिए शंकरपट का आयोजन जरूरी : विधायक विनोद अग्रवाल

आमदार क्रिडा महोत्सव द्वारा आयोजित भव्य शंकरपट में विधायक विनोद अग्रवाल ने दर्ज की उपस्थिति
गोंदिया : गोंदिया तालुका में स्थित तांडा -अदासी के प्रांगण में शंकरपट समिति तांडा-अदासी द्वारा आमदार क्रिडा महोत्सव के अंतर्गत भव्य शंकरपट का आयोजन किया गया था. उस मौके पर विधायक विनोद अग्रवाल ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई और इस मौके पर उन्होंने किसानों का हौसला बढ़ाया और कहा कि शंकरपट बलीराजा का खेल नहीं बल्कि किसान की परंपरा है. साथ ही किसानों ने इस परंपरा को बनाए रखने के लिए इस तरह के आयोजन करना चाहिए ताकि इस परंपरा को कायम रखा जा सके इस खेल को बैलगाड़ी दौड़ कहा जाता है और नियम अलग-अलग होते हैं लेकिन नियमों का पालन करना होता है इसप्रकार किसानों को संक्षेप में मार्गदर्शन किया।
इस शंकरपट में बड़ी संख्या में किसान प्रतियोगिता के लिए एक जोड़ी बैल लाए थे। और किसानों में गजब का उत्साह था। साथ ही इस शंकरपट में बैलो की दौड़ देखने के लिए किसानों की काफी भीड़ उमड़ी थी और बैलों की विजेता जोड़ी के लिए ईनाम भी रखा गया है. जिसमे प्रथम पुरस्कार के रूप में 31,000, द्वितीय पुरस्कार के रूप में 21,000, तृतीय पुरस्कार के लिए 13,000, चतुर्थ पुरस्कार के लिए 11,000, पांचवें पुरस्कार के लिए 10,000 और छठे पुरस्कार के लिए 9,000 रुपये दिए जानेवाले है । आयोजित शंकरपट में शिकायत शुल्क के साथ-साथ प्रवेश शुल्क भी रखा गया है। शंकरपट का आयोजन सरकार के नियम के मुताबिक किया गया है। इस अवसर पर विधायक विनोद अग्रवाल, जेकीपी अध्यक्ष भाउराव उके, किसान आघाडी जिल्हाध्यक्ष मोहन गौतम, सभापती मुनेश रहांगडाले, ओमेश बाबा चौधरी, बालू बिसेन, विक्की बघेले, माधोराव रहांगडाले, चेतसिंह परिहार, लिनेश रहांगडाले, गणेश रहांगडाले, रामेश्वर भगत, तीरथ चौहान, सूर्यकिरण पटले, दिनेश सुरसाउत व आदि किसान व आयोजक उपस्थित थे.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments