Saturday, June 22, 2024
Google search engine
HomeUncategorizedकिसानो की कर्जमाफी के बजाय बड़े-बड़े उद्योगपतियों की हो रही कर्जमाफी :...

किसानो की कर्जमाफी के बजाय बड़े-बड़े उद्योगपतियों की हो रही कर्जमाफी : शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) जिला प्रमुख पंकज यादव

तिरोडा के चोरखमारा में कर्ज के बोझ से किसान ने आत्महत्या कर दी उन्हें शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) जिला प्रमुख पंकज यादव ने दी श्रद्धांजलि

गोंदिया : लोकसभा के प्रथम चरण के चुनाव के दिन १९ अप्रैल को ही गोंदिया जिले के तिरोडा तालुका में एक किसान ने कर्ज के लदे बोझ से आत्महत्या कर ली है. गोंदिया जिला यह और संपूर्ण भारत कृषि प्रधान देश है. जिले का मुख्य व्यवसाय खेती है और अधिकतर लोगो की उपजीविका खेती पर निर्भर है परंतु सरकार के द्वारा किसानो के लिए कोई हितकारी दिखाई नही देती. बड़े-बड़े उद्योगपति के कर्ज यह सरकार माफ़ कर देती है. किसानो के खेतीउपयोगी संसाधनों पर GST और महंगाई का फटका देती है. आज का किसान खेती करने पर मजबूर होकर आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो चूका है ऐसी राज्य में और केंद्र में भाजपा महायुती की सरकार को सत्ता से उखाड़ फेकने का कार्य हमें करना है ऐसा शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) जिला प्रमुख पंकज यादव ने कहा है.

कर्ज के बोझ से किसान ने आत्महत्या कर ली है उनके परिवार में केवल १० वर्ष की बच्ची है आज वह बच्ची अनाथ हो चुकी है आज यह हमारे लिए बहुत दुखद घटना है की सरकार के कर्ज के बोझ ने एक मासूम बच्ची को अपने माँ-बाप को खोना पड़ा और अनाथ होना पड़ा. ऐसी सरकार लो सबक सिखाने के लिए यह सुनहरा मौका है ऐसा भी शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) जिला प्रमुख पंकज यादव ने कहा है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments