Tuesday, May 21, 2024
Google search engine
HomeUncategorized30 साल बाद लिया पिता के खून का बदला

30 साल बाद लिया पिता के खून का बदला

हत्या के मामले में 2 गिरफ्तार
गोंदिया. पुलिस ने एक ऐसे प्रकरण का पर्दाफाश किया है जिसे पहले दुर्घटना दिखाया गया, पर जब तहकीकात की तो हत्या का मामला सामने आया। हत्या भी ऐसी, जो खून के बदले खून की। भावना से की गई। एक बेटे ने अपने पिता के 30 साल पूर्व हुई हत्या के मामले पर मन में क्रोध की भावना रख उसकी हत्या कर दी। ये हत्या की वारदात 29 नवंबर 2023 को फुलचुर टोला से पिंडकेपार जाने वाले मार्ग पर अंजाम दी गई।
इस प्रकरण को पहले सड़क हादसे के रूप में देखा गया। एवं घटना में मृत मोरेश्वर खोब्रागडे निवासी चंद्रशेखर वार्ड, श्रीनगर गोंदिया की दुर्घटना में मौत को लेकर गोंदिया ग्रामीण थाने में मामला दर्ज किया गया।
पर जब पुलिस ने प्रथमदृष्टया जांच की, एवं सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो ये दुर्घटना नही हत्या में तब्दील दिखाई दिया। फौरन पुलिस अधीक्षक निखिल पिंगळे, अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानंद झा ने हत्या का मामला दर्ज करने व आरोपियों के गिरफ्तारी के निर्देश दिए।
गोंदिया ग्रामीण पुलिस ने घटना की रिपोर्ट में भादवि की धारा 302, 341, 34 दर्ज कर जांच के लिए तीन टीम बनाई। पुलिस को सूत्रों से खबर मिली कि मृतक ने कई साल पहले आरोपी युवक सुनील भोंगाड़े के पिता की हत्या की थी। एवं युवक पिछले 8 दिन से उसके पीछे था। ऐसी खबर लगते ही तथा 100 से 150 सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर पुलिस को कुछ सफलता हाथ लगी।
पुलिस ने सुनील भोंगाड़े एवं शाहरुख शेख को हिरासत में लिया। पूछताछ में सुनील भोंगाड़े ने बताया कि मृतक मोरेश्वर खोब्रागडे ने अपने भाई के साथ मिलकर करीब 30 साल पूर्व उसके पिता धनीराम भोंगाड़े की जमीन के मामले पर मनोहर चौक में धारदार हथियार से निर्मम हत्या कर दी थी।
आरोपी सुनील भोंगाड़े ने बताया कि 1 साल से मृतक खोब्रागडे उसे किसी भी सामाजिक कार्यक्रम में दिखता था तो वो देखकर हीनभावना दर्शाता था और हंसता था। यही बात उसके दिल में चुभी हुई थी और उसने इसका बदला ले लेने की ठान ली।
आरोपी सुनील भोंगाड़े उम्र 44 वर्ष ने उसके दुकान में काम करने वाले साथीदार शाहरूख हमीद शेख़ उम्र 24 वर्ष निवासी कुरहाडी को सारी बात बताकर मोरेश्वर खोब्रागडे को जान से मारने का प्लान किया।
29 नवंबर को ये दोनों मृतक का पीछा करने लगे। शाम 5 बजे गाड़ी से पिंडकेपार रोड पर जाकर अनिल कबाड़ी के गोडाऊन से लगे खुली जगह पर मृतक को गाड़ी से रोक दिया और लोहे को रॉड से उसके सिर पर 5 से 6 वार किए। साथीदार शाहरुख ने मृतक पर लात और बुक्के बरसाए तथा सर और पेट भी हमला कर फरार हो गए।
इस हत्या के मामले पर दोनों आरोपियों को भादवि की धारा 302, 341, 34 के तहत गिरफ्तार कर आगे की जांच सहायक पुलिस निरीक्षक चौहान कर रहे है।
इस कार्रवाई को वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में पोलीस निरीक्षक दिनेश लबडे (एलसीबी) के नेतृत्व में स.पो.नि.विजय शिंदे, पोलीस उपनिरीक्षक महेश विघ्ने, वनिता सायकर, सहाय्यक फौजदार अर्जुन कावळे, पोलीस हवालदार राजेंद्र मिश्रा, भुवनलाल देशमुख, महेश मेहर इंद्रजीत बिसेन, सोमेंद्रसिंग तुरकर, रियाज शेख, तुलसिदास लुटे, नेवालाल भेलावे, चित्तरंजन कोडापे, सुजित हलमारे, संतोष केदार, अजय रहांगडाले, चालक लक्ष्मण बंजार, घनश्याम कुंभलवार, विनोद गौतम वह नक्सल सेल के आशिष वंजारी, सायबर सेल के दीक्षित दमाहे, धनंजय शेंडे, संजय मारवाडे, सोनवणे, रहीले, येरने, ने अथक परिश्रम किया व सफलता प्राप्त की।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments